urdu musaira

उर्दू अकादमी उत्तर प्रदेश के द्वारा खैराबाद मुशायरा 2021

Urdu Academy Uttar Pradesh 2021 Mushaira Khairabad

मौलाना अबुल कलाम आज़ाद एजुकेशनल इंडू वेलफेयर सोसाइटी के जे़रे एहतमाम और उर्दू अकादमी उत्तर प्रदेश के जे़रे एहतमाम से हफ्ता मेमोरियल हाल में शानदार मुशायरा मुनक्किद हुआ जिस की सदारत के फराइज डॉ अजीज खैराबादी ने अंजाम दिया और मेहमान ए खुसूसी की हैसियत से कस्बे के हर दिल अज़ीज़ चेयरमैन जलीस अहमद अंसारी शरीके महफिल रहे ।

इस मौके पर मुफ्ती आफ़ताब आलम नदवी ने उर्दू की तारीफ बयान करते हुए हमदो नात के शोरा की हौसला अफ़जा़ई फ़रमायी। हाजी जलीस अंसारी ने कहा की तवील अरसे के बाद कस्बे में मुशायरा मुनकिद होने पर सोसाइटी और उर्दू अकादमी के सेक्रेटरी एस रिजवान का शुक्रिया अदा करता हूं।

Gulshan Khairabadi 

सोसायटी के सद्र अकबर अली ने शोरा, मेहमान शोरा और सामईन का इस्तकबाल करते हुए सोसायटी के काम काज व मक़ासिद पर रौशनी डाली। कन्वीनर मुशायरा डॉक्टर मख़मूर काकोरवी थे। जो अशआर पसंद किए गए और सामईन ने दादो तहसील से खूब नवाजा शेर इस तरह हैं।

मेरे ही दम से है शोर ए सदाक़त ।

मैं लब सी लूं तो सन्नाटा बहुत है।।

डॉक्टर अज़ीज़ खैराबादी जब कोई कौम गुलामी के निशां छोड़ती है। सबसे पहले वो खुद अपनी ही जुबां छोड़ती है।। नाज़ प्रतापगढ़ी अभी बे ताज हमको मत समझना। अभी उर्दू विरासत है हमारी।।

Qari Azam Jahangirabadi

मस्त हफिज़ रहमानी बनाएं आप न माहौल शहर का ऐसा। बजाय खैर फ़ज़ाओं में शर महकने लगे।।

डॉक्टर मख़मूर काकोरवी छोड़ के नफ़रत एक रहें सब गुलशन में। ऐसा हिंदुस्तान बना दे या अल्लाह।।

Hafiz Masood Mahmodabadi

अशफाक अली गुलशन खैराबादी इनके अलावा इरफ़ान लखनवी, तशना आज़मी, सलीम ताबिश, मुईद रहबर, इकबाल अकरम वारसी मजाज़ सुल्तानपुरी, महफूज़ रहमानी, नसीर अहमद नसीर, डॉक्टर तनवीर इकबाल बिसवानी, मंजर यासीन, खुश्तर रहमानी , जियाउद्दीन,जिया खैराबादी, शाकिर खैराबादी, कारी आजम जहांगीराबादी, हाफ़िज़ मसूद महमूदाबादी, विवेक मिश्रा राज खैराबादी, महबूब खैराबादी, धर्मराज उपाध्याय, रहबर खैराबादी, बिलाल महमूदाबादी, कमर खैराबादी, रईस रहमानी, और घायल खैराबादी ने भी कलाम पेश किया आख़िर में फ़ीरोज़ आलम ने शोरा और सामईन का शुक्रिया अदा किया।।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *